Home / Antervasna / दो रंडियों का कॉलेज टूर

दो रंडियों का कॉलेज टूर

कुसुम

hi friends my name कुसुम है और में sexy story पर पिछले कुछ सालों से Sexी कहानियों के मज़े लेती आ रही हूँ। ऐसा करने में मुझे बड़ा मज़ा आता है और अब तक ना जाने मैंने कितनी कहानियों के मज़े लिए। बिना कहानी पढ़े मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता। friends में अभी अपनी कॉलेज की पढ़ाई कर रही हूँ और में अभी पहले साल की पढ़ाई कर रही हूँ। मेरे फिगर का आकार 34-28-34 है हमारे घर में मेरे मम्मी पापा और भाई है और मेरी एक बहुत पक्की सहेली है जिसका नाम हेमा है। हम दोनों की उम्र करीब 17-18 की होगी। हम दोनों बहुत मज़े मस्ती किया करते है और मजाक करते समय कभी वो मेरे बूब्स को खींच देती तो कभी में उसके गाल पर चिकोटी काट लेती। कॉलेज में हम दोनों के ही बॉयफ्रेंड है मेरे बॉयफ्रेंड का नाम Rajेश और हेमा के बॉयफ्रेंड का नाम संदीप है में संदीप को और हेमा Rajेश को जीजू ही बोलती है वो भी मुझे अपनी साली ही समझता है और हमारे बीच में अभी तक किस ही हुआ है या कपड़ो के ऊपर से बूब्स पर हाथ फेरा बस इतना ही हमारे बीच हुआ है। friends ab main अपनी असली बात पर आती हूँ एक बार हमारे कॉलेज की तरफ से हमे घूमने बाहर जाना था। हमें Rajस्थान घूमना था और इस बात को सुनकर में बहुत खुश थी। मैंने और हेमा ने हमारी फीस भी जमा करवा दी। तो हम दोनों ने Rajेश और संदीप से भी हमारे साथ चलने को कहा और वो दोनों भी अपनी कार से जाने को तैयार हो गये लेकिन वो कार उनके एक दोस्त की थी इसलिए वो भी उनके साथ ही गया और उस लड़के का नाम जितेन्द्र था और जितेन्द्र बहुत अमीर था और उसका जयपुर में फ्लेट भी है। उसका रंग थोड़ा सा काला है। फिर में और हेमा एक स्कूल बस से 26 तारीख को चले और हम जयपुर पहुँच गए। हम सभी करीब दोपहर को 12 बजे पहुँचे और हम सभी लड़कियों को एक धर्मशाला में ठराया गया था। फिर कुछ देर फ्रेश होने के बाद सभी लड़कियाँ और मेडम Raj मंदिर में फिल्म देखने चली गयी और हम दोनों उन सभी को झूठ बोलकर हमारे बॉयफ्रेंड के साथ उनकी कार में बैठकर घूमने चली गयी। हेमा कार में आगे की सीट पर अपने बॉयफ्रेंड संदीप के साथ बैठी हुई थी और में पीछे जितेन्द्र और Rajेश के बीच में बैठी हुई थी और हम लोग ने रास्ते में रुककर एक Hotel से खाना पेक करवाकर जितेन्द्र के फ्लेट पर आ गए। जितेन्द्र ने पहले से ही अपने साथ बियर ले ली। फिर वहां पर पहुंचते ही मैंने उनसे कहा कि यहाँ पर क्यों आए हो हम कहीं बाहर घूमने चलते है? तो वो मेरी बात को सुनकर ज़ोर से हंस पड़े और उनमे से एक ने जवाब दिया कि पहले तुम कुछ खा पी लो उसके बाद हम घूमने चलते है और अब उन तीनों ने बियर पीना शुरू कर दिया और हम दोनों को खाना लगा दिया। फिर कुछ देर बाद Rajेश ने मुझसे बियर पीने के लिए कहा लेकिन मैंने उसको ऐसा करने के लिए साफ मना कर दिया तो संदीप ने हेमा को और Rajेश ने मुझे अपनी कसम देकर हम दोनों को बियर पिला दी। बियर पीने के कुछ देर बाद हम दोनों को हल्का सा नशा होने लगा और हम दोनों हॉट हो गयी तो इस बात का फायदा उठाकर संदीप ने उसी समय हेमा को अपनी बाहों में जकड़ लिया और अब वो उसके होंठो को चूसने लग गया था। फिर हेमा उूुउउ करके बोली कि तुम सभी के सामने यह क्या कर रहे हो। देखो सभी लोग हम दोनों को देख रहे है? तभी संदीप उससे कहने लगा कि अरे और कौन है यहाँ पर बस एक मेरी साली है या मेरा एक दोस्त है इन लोगों से क्या शरमाना यह तो हमारे ही है कोई बाहर का नहीं है? और इतने में Rajेश ने भी मुझे पकड़ लिया और वो अपने एक हाथ से मेरे बालों को पकड़कर मुझे किस करने लगा था और वो अपने दूसरे हाथ से मेरे बूब्स को भी दबाने लगा था। उसने यह सब मेरे साथ इतना अचानक से किया कि मुझे थोड़ा सा भी उसने सम्भलने का मौका नहीं दिया और वो मुझे पागलों की तरह लगातार चूमता रहा। friends उन दोनों का वो दोस्त जितेन्द्र भी उस समय पास ही एक कुर्सी पर बैठा हुआ हम लोगों को यह सब करते हुए देख रहा था क्योंकि उसको भ
ी देखने में बड़ा मज़ा आ रहा था और अब Rajेश ने सही मौका देखकर तुरंत मेरी टीशर्ट को उतार दिया और अब वो मेरी ब्रा के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाने मसलने लगा था और में बार बार लगातार उससे ना ना करती रही लेकिन वो नहीं माना और अपनी मर्जी से काम करता रहा।

अब Rajेश ने हिम्मत करके आगे बढ़ते हुए अपने एक हाथ को मेरी पीठ पर ले जाकर मेरी ब्रा का हुक भी खोल दिया जिसकी वजह से अब मेरे बूब्स पूरे नंगे हो गए थे जो ब्रा के खुलते ही तुरंत बाहर आकर खुली हवा में साँस लेने लगे थे और मेरे दोनों बूब्स अब Rajेश के हाथों में थे। फिर में उससे बोली कि तुम यह क्या कर रहे हो Raj? प्लीज अब बस करो छोड़ दो मुझे। अब वो मुझसे बोला कि में तुम्हे प्यार कर रहा हूँ और इतना सा कहकर उसने तुरंत अपने होंठो को मेरे बूब्स पर रख दिया और वो मेरे बूब्स को दबाने के साथ साथ ज़ोर ज़ोर से चूस रहा था। अब मैंने हेमा की तरफ देखा तो वो सिर्फ़ अब पेंटी में थी और संदीप भी उसके निप्पल को दबा दबाकर चूस रहा था। friends वैसे हेमा के बूब्स आकार में मेरे बूब्स से ज्यादा बड़े थे और उसके निप्पल भी गुलाबी रंग थे और फिर मैंने देखा कि संदीप एक छोटे बच्चे की तरह उसके निप्पल को चूस रहा था और हेमा जोश में आकर उसके सर को अपनी छाती पर दबा रही थी। फिर मैंने संदीप से कहा कि जीजू आज तो आप भी एक छोटे बच्चे बन गये ना वो मेरी इस बात को सुनकर हंस पड़ा और बोला कि हाँ कभी कभी ऐसा भी करना पड़ता है। friends इधर Rajेश ने भी मेरे बूब्स को चूसते हुए मेरी जींस को खोल दिया था और अब वो मेरी पेंटी के ऊपर से ही मेरी गीली कामुक choot को मसलने लगा था जो उसके इतनी देर से मेरे साथ यह सब करने की वजह से अब अपना पानी भी निकालने लगी थी जिसकी वजह से मेरी पेंटी गीली होने लगी थी। फिर में अब अपनी सहेली से बोली कि देखो हम दोनों के साथ कितनी बेईमानी हो रही है हम दोनों पूरी नंगी है और यह दोनों लड़के अब तक अपने कपड़ो में है। तो Rajेश बोला कि हाँ मेरी जान तुमने बिल्कुल सही कहा और इतना कहकर Rajेश ने अपनी शर्ट को तुरंत ही उतार दिया जिसकी वजह से अब उसका वो गोरा भरा हुआ गठीले बदन मेरे सामने था और उसको ऐसा करता हुआ देखा उसका दोस्त भी अपने कपड़े उतारने लगा था। फिर उसने अपनी पेंट को भी झट से उतार दिया था जिसकी वजह से अब हम दोनों पेंटी में थी और वो दोनों अपनी अपनी अंडरवियर में हमारे सामने थे। अब संदीप मुझसे बोला कि अब इसको तुम दोनों ही उतार दो उनका वो दोस्त जितेन्द्र अब भी कुर्सी पर ही बैठा हुआ था और ab main अंडरवियर के ऊपर से ही Rajेश का land सहलाने लगी थी। मुझे ऐसा करने में बड़ा मस्त मज़ा आ रहा था और उस वजह से में बहुत हॉट हो गयी थी मैंने संदीप की आखों में देखा वो मुझे देखकर मेरी तरफ मुस्कुरा रहा था और अब संदीप मुझसे बोला कि क्यों जानू क्या तुम्हे डर लग रहा है तुम आराम से देख लो यह तुम्हारे लिए ही बना है और तुम्हारी ही चीज़ फिर में भी अपनी चीज़ के दर्शन करने वाला हूँ। फिर इतना कहकर वो मेरे पास आकर मेरी choot को सहलाते हुए बोला वाह क्या मस्त मज़ेदार माल है आज तो जीवन का असली मज़ा आने वाला है। अब मैंने हेमा और संदीप की तरफ देखा तो वो अपने घुटनों के बल बैठे उसके मोटे land पर किस कर रही थी। मुझे भी वो सब देखकर गर्मी चड़ने लगी थी और इसलिए में भी अब अपने घुटनों के बल बैठकर मैंने Rajेश का अंडरवियर नीचे किया और झट से उसका land मेरे गालो पर जा लगा। फिर में उसका मोटा लंबा land देखकर बहुत चकित होकर कांप गयी। मेरी सारी मस्ती मानो उतर गयी क्योंकि वो करीब 6 inch लंबा और 3 inch मोटा था। ab main वापस उठने लगी तो Rajेश मुझसे पूछने लगा क्यों क्या हुआ मेरी रानी तुम ऐसे इससे इतना क्यों डर रही हो? तो मैंने उससे कहा कि मुझे कुछ नहीं करना में मर जाउंगी मुझे बहुत दर्द होगा। फिर वो मुझसे बोला कि साली क्यों बिना मतलब का तू मुझे अब इतना नखरा दिखा रही है उधर तेरी सहेली हेमा को देख वो भी तो बड़े मज़े चूस रही है। friends ये कहानी आप sexy story पर पड़ रहे है।

अब मैंने देखा और सुना तो हेमा के मुहं से वो आवाज़े आ रही थी उूउउ आआह्ह्ह क्योंकि वो दोनों अब 69 की पोज़िशन में आ चुके थे और उन्हे ऐसा करता देख में एक बार फिर से जोश में आकर गरम होने लगी थी लेकिन में अब नीचे बैठे रही थी कि तभी संदीप बोला यार यह लड़कियाँ तो रंडियों की तरह नखरे करती है। तो मुझे उसकी वो बात सुनकर बहुत गुस्सा आने लगा और मैंने कहा कि यह क्या कम लफंगे है वो सभी हंसने लगे और बोला कि जो लड़की इसके नीचे आ जाती है वो खुद ही अपने आप को रंडी कुतिया बोलती है और इधर Rajेश मेरे बूब्स को मसल रहा था तो संदीप उसकी choot चाट रहा था। में भी उसके लाल-लाल टोपे पर किस करने लगी थी। फिर मैंने अपना मुहं खोला और Rajेश के land को मैंने अपने मुहं में तीन inch भर लिया आह्ह्ह्ह Rajेश के मुहं से निकला और वो धीरे धीरे मेरे मुहं में अपने land को धक्के देने लगा था। अब उसने मेरे बाल पकड़े और ज़ोर से धक्का देकर गले में अपना land फंसा दिया जिसकी वजह से मेरा दम घुटने लगा और मेरी आखों से आंसू बाहर आने लगे थे। फिर उसने मेरी हालत को देखकर अपना land बाहर निकाला और वो बोला कि चलो अब Bed पर आ जाओ वो दोनों भी पहले से ही तैयार थे और तभी हमारी नजर जितेन्द्र पर चली गई। वो अपना land सहला रहा था। उसका land बिल्कुल काला और मोटा था और वो करीब पांच inch लंबा और बहुत मोटा भी था। वो मेरी तरफ देखकर मुस्कुराया और पहली बार बोला कि तुम बहुत मस्त Sexी लग रही हो। फिर Rajेश बोला की हरामजादी रंडी एसी मस्त ही होती है। फिर में उससे बोली कि यह क्या बोल रहे हो गाली मत दो मुझे ऐसा कुछ भी सुनना अच्छा नहीं लगता और फिर वो बोला कि Sex में गालियाँ देकर बात करने से ही असली मज़ा आता है में अब कुछ नहीं बोली उन्होंने अब Bed पर हम दोनों को कमर के बल लेटा दिया और हम दोनों के पैरों को ऊपर उठाया। एक पैर जितेन्द्र ने पकड़ लिया और दूसरा Rajेश ने पकड़ा और हेमा का एक पैर संदीप ने और दूसरा जितेन्द्र ने पकड़ लिया। अब वो दोनों अपने land को हमारी choot पर रगड़ने लगे थे। वो हमारी choot के दाने को अपने land के टोपे से सहलाने लगे थे जिसकी वजह से हम दोनों का बड़ा बुरा हाल हो गया था और हमारी choot में चीटियाँ रेंग रही थी। अब Rajेश मेरे निप्पल को चूस रहा था और अपने दांतो से काट भी रहा था। फिर मैंने उससे कहा कि प्लीज अब थोड़ा जल्दी से करो ना। तो वो मुझसे पूछने लगा कि क्या करूं तुम मुझे बोलकर बताओ तब करने में ज्यादा मज़ा आएगा? friends में उस समय बहुत गरम हो चुकी थी और में बहुत तड़प रही थी इसलिए जोश में आकर में बोली कि जल्दी से इसको अंदर डाल दो। तभी हेमा की चीख मेरे कानो में आई आईईईई ऊउईईईईईई माँ में मरी आह्ह्ह्ह प्लीज बाहर निकालो इसको मुझे बहुत दर्द हो रहा है और इतने में Rajेश ने अपने land को मेरी choot में धक्का मार दिया जिसकी वजह से मेरे मुहं से वो चीख निकली आईईईइ माँ में मरी आईईई उफ्फ्फ्फ़ प्लीज बाहर निकालो इसको मुझे बहुत दर्द हो रहा है और उसके दर्द की वजह से मेरी आखों में पानी और मेरी choot से खून भी निकल रहा था। तभी Raj ने अपनी तरफ से मेरी choot में एक धक्का और मार दिया जिसकी वजह से उसका आधे से ज़्यादा land मेरी choot में फंस गया और उस कमरे में मेरी और हेमा की चीखे चिल्लाने की और उनके हंसने की आवाज़ थी।

ab main कहने लगी कि प्लीज Raj अब तुम इसको बाहर निकाल लो मुझे बहुत दर्द हो रहा है और हेमा भी उससे यही बात बार बार बोल रही थी Raj ने मेरे एक बूब्स को अपने मुहं में लेकर मेरी तरफ देखा और एक जोरदार झटका मार दिया और अब मुझ पर एक अजीब सी बेहोशी सी छा गयी और में हल्की आवाज से कहने लगी उफफ्फ्फ्फ़ माँ में मरी मेरी choot फट गयी थी। फिर मैंने हेमा की तरफ देखा तो उसकी आखों में भी पानी था और तभी मेरी नज़र उसके दोनों पैरों के बीच में चली गयी वहां पर खून था और संदीप का land उसकी choot में फंसा पड़ा था। उसका land खून से तर था और अब मुझे दर्द से थोड़ा सा आराम मिलने लगा था। फिर में हेमा से बोली कि तेरी choot पर तो जीजू ने अपना नाम लिख दिया यह अब इनकी हो चुकी है और इनका इस पर सबसे पहला हक है तभी हेमा बोली कि साली तू अपनी choot को भी देख वहां पर मेरे जीजाजी का नाम लिखा है और अब उन दोनों ने हमारा कम दर्द देखकर तेज लगातार धक्के लगाने शुरू कर दिए जिसकी वजह से मुझे बड़ा मस्त मज़ा आ रहा था। में जोश में आकर उससे बोल रही थी उफ्फ्फ्फ़ हाँ और ज़ोर से मेरे Rajा आज फाड़ दे तू मेरी इस choot को यह मुझे हमेशा बहुत तंग करती है हाँ जाने दे पूरा अंदर तक वाह मज़ा आ गया। friends ऐसे ही कुछ शब्द हेमा भी बोल रही थी और हमारी सिसकियाँ उस पूरे कमरे में गूँज रही थी उनके धक्के वैसे ही लगतार लगते रहे और में जोश में आकर ख़ुशी से झूम उठी क्योंकि ab main झड़ने वाली थी और में Rajेश को बोल रही थी उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्ह हाँ और ज़ोर से करो हाँ पूरा अंदर तक डालो लेकिन तभी Rajेश ने मेरी choot से अपने land को बाहर निकाल लिया और वो अब एक तरफ जाकर खड़ा हो गया और वो मेरी तरफ देखकर हंसने लगा था। फिर में उससे पूछने लगी कि क्यों क्या हुआ तुम रुक क्यों गए प्लीज अब थोड़ा जल्दी से करो ना अब Rajेश मुस्कुराया और वो मुझसे बोला कि तुम मुझे माफ़ करना मेरा land कुतिया रंडी छिनाल या हरामजादी की choot में जाता है लेकिन तुम तो एक शरीफ लड़की हो यह कैसे तुम्हारे अंदर जाएगा? friends उस समय मेरी choot जोश में आकर land माँग रही थी और उसको अब land के धक्कों से ठंडा होना था। वो बिल्कुल कामुक होकर land मांग रही थी और land के लिए तरस रही थी। फिर हेमा मेरी हालत को देखकर ठीक तरह से समझकर उससे कहने लगी कि जीजू प्लीज आप यह क्या कर रहे हो। आप क्यों इस बेचारी को इतना तरसा रहे हो प्लीज मेरे कहने पर इसको एक बार ठीक तरह से चोदकर ठंडा कर दो और इसकी choot को वो शांति दे दो जिसके लिए देखो यह इतना तड़प रही है। फिर वो बोला कि नहीं इस साली के बहुत नखरे है और यह मुझे इतनी देर से अपने नाटक दिखा रही थी यह बड़ी समझदार बनती है में देखता हूँ कि कैसे यह आज अपनी choot को बिना land के ठंडा करती है? ab main अपनी chudai के लिए प्यासी choot को अपने एक हाथ से मसलते हुए उससे बोली कि प्लीज Rajेश प्लीज तुम अपना land अपनी इस हरामजादी की choot में डाल दो बना लो मुझे अपनी रंडी प्लीज वरना में मर ही जाउंगी उफ्फ्फ्फ़ आह्ह् अब जल्दी करो में तुम्हारी तो क्या इस सारे शहर की रंडी बन जाउंगी लेकिन अब तुम मुझे चोद दो प्लीज मुझसे अब बर्दाश्त नहीं होता।

अब हेमा ज़ोर से हंसते हुए बोली कि वाह जीजू में मान गई आज आपको। आपने मेरी इस नखराली बन्नो को आज पूरी एक रंडी बना दिया जो अब तक इतना नाटक नखरा दिखा रही थी अब वो अपनी chudai के लिए खुद ही तैयार है देखो यह land लेने के लिए कितना तड़प रही है। अब Rajेश मेरे पास आ गया और वो मुझसे बोला कि चल अब तू एक असली कुतिया की तरह मेरे सामने झुक जा और में आज तुझे असली कुतिया बनाकर तेरी इस गरम choot को ठंडा करूंगा और तेरी chudai का पूरा पूरा मज़ा लूँगा। फिर में Rajेश के कहने पर अपने घुटनों के बल कुतिया की तरह बैठ गई और उसने मेरे पास आते ही सबसे पहले मेरे कूल्हों पर एक कसकर थप्पड़ मारा जिसकी वजह से मेरे कुल्हे एकदम लाल हो गये उसके बाद उसने अपने land को मेरी choot से सटा दिया और ज़ोर का एक धक्का मारा जिसकी वजह से मुझे दर्द तो बहुत हुआ लेकिन में कुछ भी नहीं बोली और में अपनी चीख को अपने अंदर ही दबाकर उस दर्द को सहती रही। अब उसी समय जितेन्द्र मेरे मुहं के पास अपना land ले आया और वो मेरी तरफ देखकर मुस्कुराने लगा। मैंने तुरंत उसका इशारा समझकर अपना मुहं खोला और उसके land को अपने मुहं में ले लिया और में उसके land को चूसने लगी वो धक्के लगाने लगा था। friends उधर Rajेश अपनी पूरी स्पीड से लगा हुआ था और इधर जितेन्द्र मेरे मुहं में अपने land को धक्के दिए जा रहा था और फिर मैंने देखा तो हेमा संदीप के land के ऊपर बड़ी स्पीड से कूदकर अपनी choot के अंदर उसका land ले रही थी और उसको बड़ा मज़ा आ रहा था। उस पूरे कमरे में अब ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह आईईईई की आवाज़े आ रही थी और हम सभी पूरे जोश में अपना अपना काम कर रहे थे। तभी कुछ देर बाद जितेन्द्र ने मेरा सर अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया और उसने हल्के धक्के देते हुए अपना पूरा वीर्य मेरे मुहं में निकाल दिया। में उसका land वैसे ही अपने मुहं में लिए चूसती रही और उसके वीर्य का बड़ा ही नमकीन सा स्वाद था। वो कुछ मेरे गले में भी चला गया और कुछ मुहं से बाहर निकलकर मेरे गालो पर बह गया और अब तक मेरी choot ने भी एक बार पानी छोड़ दिया था वो भी धीरे धीरे ठंडी होने लगी थी लेकिन उसी समय Rajेश ने भी land मेरी choot से बाहर निकाला और उसने भी मेरे मुहं पर अपना सारा वीर्य निकाल दिया और इधर संदीप और हेमा भी झड़ने वाले थे। हेमा अब संदीप से बोल रही थी कि साले ज़ोर से धक्के दे। में अब गई काम से और उसी समय संदीप ने भी अपने land को बाहर निकालकर हेमा के मुहं में अपने land को डाल दिया और वो उससे बोला कि ले साली कुतिया पी ले आज तू भी मेरा पूरा जूस तू भी मज़े कर। फिर हेमा ने संदीप के land को चूसते हुए उसका सारा वीर्य पी गयी लेकिन वीर्य कि मात्रा ज्यादा होने की वजह से वो उसके मुहं से बाहर निकलते हुए उसके बूब्स पर जा टपका जिसको संदीप ने उसके पूरे बूब्स पर मसल दिया था। मैंने देखा कि हेमा के चेहरे से वो ख़ुशी साफ साफ नजर आ रही थी और वैसा ही हाल मेरा भी था। में अपनी पहली chudai से बड़ी खुश थी और मुझे chudai का असली मतलब उस दिन समझ में आया था और तब मुझे पता चला कि chudai करने में क्या कैसे और कितना मज़ा आता यह सभी बातें पता चली उसके बाद मुझे और भी chudai करवाने की इच्छा होने लगी थी।

friends में अपनी अगली कहानी में आप सभी को बताउंगी कि कैसे उन तीनों ने मेरी और हेमा की मस्त मज़ेदार जमकर chudai करके हम दोनों को सही में एक रंडी और कुतिया की तरह हमारे साथ व्यहवार किया लेकिन हम दोनों को उस खेल में भी बहुत मज़ा आया वो सभी बातें अगली बार में खुलकर बताउंगी अब मुझे जाने की आज्ञा दीजिए।

thanks

Check Also

पूनम didi की gaand chudai

abhi hi friends my name abhi है और mujhe सब प्यार से अभी कहते है। …